What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है

नमस्ते दोस्तों आज हम What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है के बारे में बात करने वाले हैं, तो दोस्तों हम आपके लिए What is Computer in Hindi पोस्ट लाए हैं, चले What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है जाने हिंदी में। जानते हैं आपको बहुत सारी नॉलेज देगी, हमारी HindiYouth.com वेबसाइट का एक ही मकसद है कि हिंदुस्तान के युवाओं को सही जानकारी मिल सके.

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है
What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है

Computer एक mathematical और non-mathematical performs करने वाला electronic device है।  Computer एक अशी machine है जो कुछ तय instructions के अनुसार tasks को संपादित करता है।  Computer को बनायहि गया है जानकारी के साथ काम करके लिए। Computer का शब्द Latin के शब्द “computare” से लिया गया है।  इसका meaning Latin के शब्द “computare” से लिया गया है. 

सब लोग यही सोचते है की Computer एक Super man की तारा है लेकिन ऐसा नही है। कंप्यूटर बस एक ऐसी automatic electronic machine जो कभी भी  कोई गलती नहीं करता।   और बता दू इसकी capacity बोहत limited है अभी। Computer का इस्तेमाल information को collect करना और Process है। 

Computer जोभी Process करता है वो अकेला नहीं करता। Computer को process करने के लिए बोहत सारे devices और programs की Help से करता है। Computer के devices और programs में सबसे ज्यादा help Hardware तथा Software मिलती है।  

Computer का असा device है जो software और program की Help से किसी भी Result को Process कर सकता है। Computer को artificial intelligence भी कहते है। Computer मनुष्य की तुलना में बोहत काम गलतिया करता है। 

Computer की Features:

  • Computer बोहत Fast काम करता है जिससे टाइम की बोहत बचत भी हो जातो है।  
  • Cmputer बिना कोई गलती करे कम् कर सकता है। 
  • Computer permanent और large storage capacity हमें देता है। 
  • Computer पहले से दिए गए instructions के अनुसार Fast decision लेने में सक्षम है ।

Computer के उपयोग :

  • education
  • scientific research
  • Railway and Airline Reservation
  • bank
  • defense
  • business
  • communication
  • Entertainment

कम्प्यूटर क अनुप्रयोग 

 What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है : शिक्षा इन्टरनेट के माध्यम से हम किसी भी विषय की

जानकारी कुछ ही क्षणों में प्राण कर सका हैं। मल्टीमीडिया के विकास

और इन्टरनेट की सुलभता ने कम्प्यूटर को विद्यार्थियों के लिए अत्यन्त

उपयोगी बना टिया है।

बैंक बेकिंग क्षेत्र में शों कम्प्यूटर फे अनुज्रयोग ने क्रानित ही ला बजे टी है। आज बेंकों के अधिकांश समयसाध्य कार्य; जैसे- ऑनलाइन

बैंकिंग, एटीएम द्वारा पैसे निकालना, घेक का भुगतान, रुपया गिनना

इत्यादि, कम्प्यूटर के द्वार सहज ही सम्भव हैं।

संचार कम्प्यूटर के त्रयोग ने संघार के क्षेत्र में इन्टरनेट के त्रयोग को सम्भव बनाया है। आधुनिक संघार व्यवस्था की तो कम्प्यूटर के अभाव में कल्पना भी नहीं की जा सकती। टेलीफोन और

इंटरनेट में संघार क्रांति को जन्म टिया है। तंतु त्रकाशिकी संपरण में भी कम्प्यूटर का त्रयोग किया जाता है।

चिकित्स पिकिासता के क्षेत्र में कम्प्यूटर का अनुत्रयोग

विभिन्‍न शारीरिक रोगों का पता लगाने के लिए किया जाता है। रोगों का

विश्लेषण तथा निटान भी कम्प्यूटर ड्वार सम्भव है। आधुनिक युग में

एक्स-रे, सीटी स्कैन, अल्ट्रासाठण्ड इत्याटि विभिन्‍न जांघों में कम्प्यूटर

का त्रयोग विस्तृत रूप से.ढों रहे हैं।

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है यायु यान तथा .रल़य आरक्षण एफ- स्थान-सेटूसरे स्थान प्र .बायुयान तथा रेल ट्वारा

जाने क्रे लिए आरक्षण कम्प्यूटर द्वारा, ही किए जाते हैं तथा कम्प्यूटर ड्वारा

ही हम घरेजेठे निर्धारित समर्य की भीं“जानकारी ज्राप्य कर सको हैं।

मरनौरंजन – मनोरंजन के क्षेत्र में कम्प्यूटर का डपयोग

ज्राब्न: सिनेमा, टेलीविजन कार्यक्रमों, वीडियो गेम इत्थाटि रूपों में किया

जाता है। मल्टीमीडिया के प्रयोग ने तो कम्प्यूटर को बहुआयामी बना

टिया’है।

प्रेशासंन  हर एक संस्थान में अपना एक आनारिक

ब्रशासन होता है और ज्रशासनिक कार्य कम्प्यूटर्स से ही किए जाते हैं।

सुरक्षा (5७८०ा४४७) आज बिना कम्प्यूटर के हमारी सुरक्षा-व्यवस्था

बिल्कुल कमजोर हो जाएगी। एयरक्राफ्ट को ट्रैक करने, हवाई हमले

आदि में कम्प्यूटर का इस्रोमाल फिया जाता हैं।

दयाणिज्य  दुकान, बेंक, बीमा क्रेडिट कम्पनी आदि में

कम्प्यूटर का अधिकशम उपयोग करों हैं। कम्प्यूटर के बिना काम करना

विष्तीय (8992८) दुनिया के लिए असम्भव हो गया है।

विज्ञान ओर उनन्‍्जीनियरिंग ($लंसालर खाते रिआशांम्रल्शपंछ 2) कम्प्यूटर

का उपयोग कठिन गणितीय और वैज्ञानिक गणनाओं को करने में किया

जाता है। इनके अतिरिक्मा, कम्प्यूटर कई ग़रह के रिकॉर्ड का संग्रहण

करने, अफाउण्ट्स, पुसताकालाय में किताबों या पत्रिकाओं को सहेजने में

भी सहायता करता है।

उद्योग  बहुए सारे औद्योगिक संस्थान: जैसे- स्टील,

कैमिकल, ऐेल कम्पनी आदि कम्प्यूटर पर निर्भर हैं। संबन्त्र त्रक्रियाओं के

वासाविक नियन्त्रण के लिए भी कम्प्यूटर का उपयोग करों हैं।

Computer के कार्य :

  • Data Collection
  • Data Storage
  • Data Processing
  • Data Output

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है : Computer शब्द   अंग्रेजी के Compute शब्द से बना    है, जिसका अर्थ है  गणना, करना होता  है इसीलिए इसे    गणक या   संगणक भी कहा   जाता   है, इसका अविष्‍कार     Calculation करने   के लिये हुआ  था,    पुराने समय    में Computer    का   use केवल Calculation करने के लिये   किया  जाता  था किन्‍तु आजकल इसका  use  डाक्‍यूमेन्‍ट   बनाने,     E-mail,   listening     and viewing      audio      and       video,     play                 games, database preparation के साथ-साथ और कई   कामों    में किया जा रहा है, जैसे bank में, Education संस्‍थानों में, कार्यालयों में, home में,  Shop में, Computer का उपयोग  बहुतायत रूप से किया जा रहा है

Computer   केवल  वह  काम करता है जो  हम उसे  करने  का कहते हैं यानी केवल वह  उन Command  को फॉलो करता है जो    पहले   से computer के  अन्‍दर डाले गये   होते हैं,     उसके अन्‍दर सोचने समझने की क्षमता नहीं होती है, computer को जो   व्‍यक्ति चलाता है     उसे         यूजर  कहते  हैं,    और    जो   व्‍यक्ति Computer       के    लिये     Program                  बनाता     है           उसे Programmer कहा जाता है। 

Computer मूलत दो भागों में बॅटा होता है-

(1)Software 

(2)Hardware 

Computer का इतिहास: 

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है :आज आप Computer पर Internat चलाते हैँ, गेम खेलते है, वीडियो देखते  हैं,   गाने सुनते  हैँ और इसके  अलावा  ढेर सारे ऑफिस से संबंधित  काम  करते हैं आज  Computer का   उपयोग दुनिया के हर क्षेत्र मेँ किया जा रहा है चाहे वो शिक्षा जगत हो, फिल्म जगत हो या आपका ऑफिस हो। 

कोई भी जगह Computer के बिना अधूरी है   आज आप  Computer  की सहायता   से   Internat  पर  दुनिया    के किसी   भी  शहर  की   कोई भी  जानकारी सेकेण्‍डों   मे    प्राप्त कर सकते हैँ ये किसी दूसरे देश मेँ बैठे अपने मित्रोँ और रिश्तेदारोँ से Internat     के माध्यम   लाइव  वीडियो कॉंफ्रेंसिंग  कर सकते हैँ यह सब   संभव हुआ है Computer  की वजह से। सोचिए अगर  Computer ना होता तो आज की दुनिया कैसी दिखाई देती।

Computer शुरुआत    कहाँ  से   हुई ओर     क्यूँ  हुई   ?     क्या वाकई  मेँ Computer इन   सभी    कामाें को करने के  लिये बना  था  या   इसका आविष्कार किसी और वजह से हुआ था आइए जानते हैँ – 

मानव  के लिए गणना    करना  शुरु    से   ही कठिन  रहा   है  मनुष्य बिना        किसी     मशीन    के   एक सीमित स्तर तक    ही  गणना या केलकुलेशन कर     सकता है   ज्यादा बडी कैलकुलेशन करने    के लिए मनुष्य  को मशीन पर ही निर्भर रहना पड़ता है इसी जरुरत को पूरा करने के लिए मनुष्य ने Computer का निर्माण किया, यानी गणना करने के लिए। 

अबेकस – 3000 वर्ष पूूूूर्व:

अबेकस   का निर्माण लगभग 3000 वर्ष  पूर्व चीन के  वैज्ञानिकोँ ने  किया था।  एक   आयताकार फ्रेम में लोहे की छड़ोँ में   लकडी की  गोलियाँ  लगी रहती थी जिनको  ऊपर नीचे करके गणना या केलकुलेशन  की जाती  थी।  यानी  यह बिना   बिजली   के    चलने वाला    पहला     Computer       था वास्तव मेँ यह काम    करने  के लिए आपके हाथो पर ही निर्भर था। 

एंटीकाईथेरा तंत्र – 2000 वर्ष पूर्व :

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है :Antikythera       असल      में    एक     खगोलीय कैलकुलेटर      था जिसका    प्रयोग  प्राचीन यूनान   में  सौर  और चंद्र  ग्रहणों को ट्रैक करने के  लिए किया जाता था, एंटीकाईथेरा यंञ लगभग 2000 साल   पुराना     है,  वैज्ञानिको को  यह यंञ 1901  में एंटीकाइथेरा द्वीप पर पूरी तरह से नष्‍ट हो चुके जहाज से जीर्ण-क्षीर्ण अवस्था में  प्राप्‍त   हुआ था, इसी कारण इसका नाम एंटीकाईथेरा System पडा तभी से  वैज्ञानिक   इसे डिकोड  करने  में  लगे      थे  और लंबे अध्ययन के बाद अब इस Computer को डिकोड कर लिया गया है।

यह मशीन ग्रहों के  साथ ही आकाश में सूर्य और चांद की स्थिति दिखाने का  काम करती है।  एंटीकाईथेरा तंत्र  ने   आधुनिक    युग का पहला ज्ञात एनलोग Computer  होने   का  श्रेय  प्राप्त कर लिया, यूनानी  ने   एंटीकाईथेरा      सिस्टम  को खगोलीय       और गणितीय आकड़ो  का सही अनुमान   लगाने के   लिए विकसित किया गया था

पास्‍कलाइन (Pascaline) – सन् 1642:

अबेकस के  बाद   निर्माण   हुआ पास्‍कलाइन  का। इसे   गणित के विशेषज्ञ ब्लेज  पास्कल ने सन् 1642 में बनाया  यह  अबेकस से अधिक    गति     से  गणना    करता   था।        ये         पहला  मैकेनिकल कैलकुलेटर  था।             इसे      मशीन को एंडिंग मशीन    (Adding Machine)     कहा     जाता   था, Blase        Pascal    की          इस Adding Machine को Pascaline भी कहते हैं 

डिफरेंज इंजन (Difference Engine) – सन् 1822:

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है : डिफरेंस  इंजन   सर चार्ल्स बैबेज   द्वारा   बनाया   एेसा यंत्र था जो सटीक तरीके से गणनायें कर सकता था, इसका आविष्कार सन 1822  में किया  गया   था,  इसमें  प्रोग्राम स्टोरेज के लिए   के पंच कार्ड का इस्‍तेमाल किया  जाता था।        यह  भाप   से   चलता  था, इसके   आधार  ही      आज  के  Computer  बनाये जा रहे   हैं   इसलिए चार्ल्स बैवेज को Computer का जनक कहते हैँ। 

जुसे जेड – 3 – सन् 1941 ;

महान वैज्ञानिक  कोनार्ड जुसे नें Zuse-Z3   नमक एक   अदभुत यंत्र का    आविष्कार   किया   जो  कि  द्वि-आधारी अंकगणित   की गणनाओ     (Binary      Arithmetic)      को       एवं    चल      बिन्दु अंकगणित  गणनाओ (Floating  point   Arithmetic)   पर आधारित सर्वप्रथम Electronic Computer था। 

अनिएक – सन् 1946 :

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है अमेरिका की एक Military   Research room  ने  ENIAC मशीन      जिसका      अर्थ               (Electronic                 Numerical Integrator          And      Computer)  का      निर्माण      किया। ENIAC             दशमलव     अंकगणितीय      प्रणाली       (Decimal Arithmetic system ) पर कार्य करता था, बाद मेें ENIAC सर्वप्रथम Computer के  रूप  में प्रसिद्ध हुई     जो कि   आगे   चलकर आधुनिक Computer के रूप में विकसित हुई

मैनचेस्टर स्‍माल स्‍केल मशीन (SSEM) – सन् 1948 :

(SSEM)    पहला ऐसा कंंम्‍यूटर था    जो   किसी      भी  प्राेग्राम को वैक्यूम  ट्यूब (Vacume Tube) में    सुरक्षित   रख  सकता  था, इसका   निक नेम  Baby  रखा  गया था, इसे बनाया था फ्रेडरिक विलियम्स और टॉम किलबर्न ने

Computer की पीढ़ी:

पहली पीढ़ी के Computer – First Generation computer –  Timeline – 1942-1955:

इस  पीढी  के   Computer  में वैक्यूम ट्यूब  (Vacuum  Tube) का प्रयोग  किया  जाता  था,  जिसकी   वजह  से इनका  आकार बहुत बडा  होता  था और   बिजली खपत भी  बहुत    अधिक होती थी। यह    ट्यूब   बहुत      ज्यादा गर्मी  पैदा करते      थे।     इन कंम्यूटरों  में ऑपरेंटिग सिस्टम नहीं होता था, इसमें  चलाने वाले  प्रोग्रामों को पंचकार्ड में  स्टोर   करके   रखा जाता था। इसमें डाटा  स्टोर करने की क्षमता बहुत सीमित होती थी। इन Computerों में मशीनी भाषा (Machine language) का प्रयोग किया जाता था। 

दूूसरी पीढ़ी के Computer – Second generation computer Timeline – 1956-1963:

दूसरी पीढ़ी के Computer में वैक्यूम  ट्यूब  की जगह ट्रांजिस्टर ने ले ली।   ट्रांजिस्टर   वैक्यूम ट्यूब  से   काफी बेहतर  था। इसके    साथ दूसरी  पीढी   के          कंप्‍यूटरों  में     मशीनी          भाषा      (Machine language)    के   बजाय      असेम्बली             भाषा  (Assembly language) का उपयोग किया  जाने लगा, हालांं‍कि   अभी  भी डाटा स्‍टोर करने के लियेे पंचकार्ड का इस्‍तेेमाल किया जाता था 

तीसरी पीढ़ी के Computer – Third generation computer Timeline – 1964-1975:

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है यहाॅ     तक  अाते  अाते        ट्रांजिस्टर  की      जगह इंटीग्रेटेड   सर्किट (Integrated    Circuit)  यानि     अाईसी    ने    ले  ली और   इस प्रकार Computer का अाकार बहुत  छोटा हो गया, इन कंम्यूटरों की गति  माइक्रो     सेकंड  से  नेनो    सेकंड तक           की थी  जो      स्केल इंटीग्रेटेड सर्किट के द्वारा संभव हो सका। यह कंम्यूटर छोटे अौर सस्ते बनने लगे और साथ ही उपयोग में भी अासान होते थे। इस पीढी  में   उच्च   स्तरीय भाषा पास्कल   और बेसिक    का   विकास हुआ। लेकिन अभी भी बदलाव हो रहा था।

चौथी पीढ़ी के Computer – Fourth generation computers Timeline – 1967-1989:

चिप तथा माइक्रोप्रोसेसर चौथी पीढी   के  Computerों   में  आने लगे थे,    इससे    Computerों का   आकार  कम  हो  गया  और  क्षमता  बढ गयी। चुम्बकीय    डिस्क         की          जगह            अर्धचालक        मैमोरी (Semiconductor  memory) ने ले ली साथ ही  उच्च गति वाले नेटवर्क का विकास हुआ जिन्हें आप  लैन  और वैन के नाम से जानते  हैं। Operating  के रूप में यूजर्स का परिचय पहली बार MS   DOS  से   हुआ,   साथ   ही     कुछ समय  बाद   माइक्रोसॉफ्ट विंडोज भी          Computerों      में     आने      लगी।  जिसकी          वजह   से मल्टीमीडिया का प्रचलन प्रारम्भ हुआ। इसी समय  C भाषा का विकास हुआ, जिससे प्रोग्रामिंग करना सरल हुआ। 

पांचवीं पीढ़ी के Computer – Fifth generation computers Timeline – 1989 से अब तक:

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है Ultra Large-Scale  Integration (ULSI) यूएलएसआई, ऑप्टीकल डिस्क जैसी चीजों का प्रयोग इस पीढी में किया जाने लगा, कम से कम जगह में अधिक डाटा स्टोर  किया जाने लगा। जिससे पोर्टेबल पीसी, डेस्कटॉप पीसी, Tablate आदि ने इस क्षेञ में  क्रांति ला  दी।    Internat, ईमेल,  WWW  का विकास      हुआ। आपका परिचय विडोंज के   नये   रूपों से  हुआ,   जिसमें  विडोंज XP को  भुलाया  नहीं  जा सकता है। विकास अभी भी   जारी  है, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस   (Artificial     Intelligence)   पर जोर  दिया जा    रहा  है।  उदाहरण  के  लिये विडोंज  कोर्टाना    को आप देख ही रहे हैं।

Computer के लाभ और हानि

Computer के लाभ 

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है

(1).आज हर जगह   कंप्‍यूटर  का उपयोग  बडें   पैमाने पर   किया जा   रहा है,  इससे का  सबसे  बडा      कारण   यह  है कि मनुष्‍य  के मुकाबले बहुत तेजी सेे काम करता है, यह बहुत बडी गणना को कुछ सेकेण्‍ड में कर सकता हैै 

(2).आज हर चीज      कंप्‍यूटर पर   उपलब्‍ध   है, आप  बहुत सारा डाटा कंप्‍यूूटर में स्‍टोर कर सकते हैं और उसे कभी भी उपयोग में ला सकते   हैं और अगर आपके  पास  Internat की   सुविधा  भी है तो आप  क्‍लाउड स्‍टोरेज का उपयोग  कर Internat पर  भी  अपने डाटा काे सुरक्षित रख सकते हैं। 

(3).आप कभी-भी    और कहीं   भी अपने दोस्‍तों      के  सम्‍पर्क  में वीडियो          कॉल,      ईमेल,  सोशल  नेटवर्किंग  जैसे  सुविधाओं केे माध्‍यम सेे जुडें रह सकते हैं।

(4).आप Internat पर कोई भी जानकारी प्राप्‍त कर सकते हैं। 

(5).बैंकिग जैसी सुविधाओं में कंंप्‍यूटर तकनीक का जबाब नहीं है, आप घर  बैठे-बैठे  अपने   मोबाइल फोन   से        या  कंंप्‍यूटर   से किसी को भी रूपये ट्रांसफर कर सकते हैं। 

(6).आज  मोबाइल रीचार्ज, बिजली का  बिल से  जमा  करने  से लेकर  ऑनलाइन        शॉपिग  यहॉ   तक     कि     हवाई  जहाज   तक कंप्‍यूटर द्वारा उडाये जा रहेे हैं वह भी बिना कोई गलती किये।

(7).शिक्षा और चिकित्‍सा के क्षेत्र में Computer ने दुुनियाॅॅ को बदल दिया     है   आप घर बैठे-बैठे  ही बेस्‍ट   टीचर्स/संस्‍थाओं    से शिक्षा प्राप्‍त कर सकते  हैं   और   चिकित्‍सा   की   बात  करें  तो दुनियॉ के बेहतरीन  डाक्‍टर्स से    Internat पर परामर्श ले सकते हैं   और  अब तो मैडीकल स्‍टोर  जाने  की भी  जरूरत नहीं है  आप  घर बैठे ही दवाईयॉ  भी आर्डर    कर    सकते    हैं,  चाहे      वह आपके श्‍ाहर    में मिलती हों या नहीं। 

Computer के नुकसान 

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है

(1).जहॉ   एक   और कंंप्‍यूूटर लोगों  को   स्‍मार्ट    बना  रहा  है  वहीं दूसरी और इसका  जरूरत  से ज्‍यादा प्रयोग  बीमार भी  बना रहा है

(2).Computerऔर मोबाइल का  अधिक प्रयोग  स्वास्थ्य के    लिए हानिकारक साबित हो रहा है 

(3).मोबाइल  और  कंंप्‍यूटर     स्‍क्रीन     पर   ज्‍यादा  लगातार देखते रहने से सबसे ज्यादा नुकसान आंखों को होता है

(4).लोगों का  मिलना जुलना  बंद हो गया है, ज्‍यादा लोग किसी के     घर जाकर मिलने से बेहतर  उनसे सोशन  नेटवर्किंग      साइट जैसे  फेसबुक  और व्‍हाट्सएप चैट करना  ज्‍यादा  पंंसद करते हैं, यहॉ        तक  कि   एक घर   में       रह  रहे 4  व्‍यक्ति भी  अपने-अपने मोबाइल फोन से ही चिपके रहते हैं। 

(5).बडी-बडी   कंंपनियों और   फैट्रियों में   कई-कई    मजदूरों का काम Computer और रोबोट    करने   लगे हैं,   जिससे बेरोजगारी भी बढी है 

(6).इसी  प्रकार  सोशन  नेटवर्किंंग    साइट  पर भी  सावधानी    से काम न करने पर भी होता है 

(7).Internate के माध्‍यम से ठगी बहुत बडे पैमाने पर बढ गयी है

Computer की कार्य प्रणाली 

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है Computer को ठीक प्रकार   से कार्य करने के लिये  Software और Hardware     दोनों की अावश्‍यकता  होती   है। अगर सीधी भाषा में कहा जाये  तो    यह  दोनों  एक दूसरे   के पूरक हैं। बिना  Hardware सॉफ्टवेयर  बेकार  है और   बिना   Software  Hardware बेकार है। मतलब    कंप्‍यूटर    Software से    Hardware    कमांड    दी  जाती है किसी  Hardware को  कैसे        कार्य     करना      है उसकी    जानकारी Software के अन्दर पहले से ही डाली गयी होती है।

Computer के सीपीयू से कई प्रकार के Hardware  जुडे  रहते हैं, इन सब के बीच तालमेल   बनाकर   Computer   को  ठीक  प्रकार से  चलाने का  काम करता है सिस्टम Software यानि Operating  सिस्टम। 

=> कंप्‍यूटर के कार्यप्रणाली की प्रक्रिया एक चरणबद्ध तरीके से होती है – 

इनपुट     (Input)   प्रोसेसिंग   (Processing)   आउटपुट (Output) 

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है

(1).   इनपुट         के  लिये अाप  की-बोर्ड,     माउस इत्‍यादि    इनपुट डिवाइस का प्रयोग करते   हैं  साथ ही कंप्‍यूटर  को Software के माध्‍यम से कंमाड या निर्देश देते हैं या डाटा एंटर करते हैं। 

(2). यह इस  प्रक्रिया  का दूसरा भाग   है    इसमें अापके  द्वारा  दी गयी  कंमाड  या डाटा  को  प्रोसेसर  द्वारा Software   में उपलब्‍ध जानकारी और निर्देशों के अनुसार प्रोसेस कराया जाता है। 

(3). तीसरा    अौर अंतिम भाग आउटपुट इसमें  आपके द्वारा  दी गयी   कंमाड       के  अाधार  पर      प्रोसेस  की   गयी जानकारी      का आउटपुट  कंप्‍यूटर द्वारा  आपको        दिया   जाता  है   जो   आपको आउटपुट डिवाइस द्वारा प्राप्‍त हो जाता है।

कंप्यूटर के प्रकार – Types of Computer in Hindi

1. General Purpose Compter

जिससे सामान्य कार्य किये जाते हैं। इनका प्रयोग घरों एवं दुकानों पर किया जाता है।

2.Special Purpose Computer

यह Computer विशेष कार्य के लिए तैयार किए जाते हैं। इनका प्रयोग निम्न क्षेत्रों में

किया जाता हैं। जैसे मौसम विज्ञान, कृषि विज्ञान, युद्ध एवं अंतरिक्ष आदि विज्ञान में

इसका प्रयोग होता है।

आकार एवं कार्य के आधार पर Computer के प्रकार

1. Micro Computer

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है यह Computer आकार के छोटे होते हैं। इन Computer का विकास 970 के दशक में

हुआ था। इन कमप्प्यूटरों में माइक्रो प्रोसेसर का प्रयोग किया जाता था। इन Computer्स

को Micro Computer भी कहा जाता था। Micro Computer को निम्न भागों में बाँटा गया है।

  • Desktop Computer
  • Laptop Computer
  • Palmtop Computer
  • Notebook Computer

(a) Desktop Computer

Desktop Computer वे Computer होते हैं जिनकों टेबिल पर रखकर चलाया जाता है।

(b) Laptop Computer

यह साईज में बहुत छोटे होते हैं। इन Computer्स को एक स्थान से दूसरे स्थान पर

आसानी से ले जा सकते हैं। इनमें पावर के लिए बैटरी का प्रयोग होता है।

(c) Palmtop Computer

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है यह Computer | Palmtop जाता है। इनकी कार्य “यमन म्नशननन नमक व हथेली में रखकर चलाया वकील गली कम होती है।

(d) Notebook Computer

Notebook Computer Laptop Compute के समान ही होते है।

(e) Tablet Computer

यह Computer बहुत की छोटे Computer होते हैं। ये मोबाइल से थोड़े बड़े होते हैं। ये

टचस्क्रीन होते है।

2. Workstation Computer

Workstation Computer का प्रयोग छोटे व्यापार में सर्वर के रूप में किया जाता है।

इनकी कार्य करने की क्षमता माईक्रो Computer की अपेक्षा अधिक होती है।

3. Mini Computer

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है : ये वो Computer बड़ी बड़ी कंपनियों एवं सरकारी ऑफिस में सर्वर Computer के कार्य

के लिए प्रयोग किये जाते हैं। PDP- 8 First Mini Computer जिसका विकास

1965 में किया गया था। DEC Company ने बनाया था DEC का पूरा नाम Digital

Equipment Corporation है।

4. Mainframe Computer

ये वे Computer हैं जो बड़ी-बड़ी कंपनियों एवं सरकारी ऑफिस में सर्वर Computer के

कार्य के लिए प्रयोग किए जाते हैं। ये Computer छोटे-छोटे फ्रेम के बने होते है। इन

Computer्स में माईक्रो Computer का प्रयोग के तौर पर किया जाता है। कुछMainframe

Computer f9=1 @ IBM 4381, ICL 39, CDC Cyber ete.

5. Super Computer

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है : सुपर Computer विशेष प्रकार के Computer होते हैं। इनका निर्माण विशेष कार्य के लिए

किया जाता है। ये दुनिया के सबसे तेज और बड़े Computer होते हैं। भारत का पहला

सुपर Computer परम है। नवीनत्तम सुपर Computer PARAM-10000 है। विश्व का

सुपर Computer  Gay-1 है इसे C.DAC ने बनाया था। सुपर Computer के कार्य

निम्नलिखित हैं – अंतरिक्ष यात्रा कि लिए, मौसम विज्ञान की जानकारी के लिए, युद्ध

कि लिए।

 अनुप्रयोग के आधार पर Computer

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है :अनुप्रयोग के आधार पर कम्प्यूटर तीन ज्कार के होते हैं, जिनका संक्षिणा

विवरण निम्नवए हें

1. एनालाँग कम्प्यूटर

जैसे- टाब तापमान, लम्बाई, पारे इत्याटि को मापकर उनके

परिणाम को अंको में त्रसुत करने के लिए एनालाॉंग कम्प्यूटर का उपोयग

किया जाता है क्योंकि ये कम्प्यूटर मात्राओं को अंको में तस्तुण्त करो हैं,

इसलिए इनका उपयोग विज्ञान और इन्जीनियरिंग क्षेत्रों में अधिक किया

जाता है। इसके उटाहरण हैं- स्पीडोमीटर, भूकम्प-सूधक यन्त्र आटि।

2.डिजिटल कम्प्यूट

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है :करने के लिए डिजिटल कम्प्यूटर का डपयोग किया जाता है। आधुनिक

युग में त्रयुक्त अधिकतर कम्प्यूटर डिजिटल कम्प्यूटर की श्रेणी में ही आते

हैं। ये इनपुट किए गए डेटा और त्रोत्राम्स को 0 और । में परिवर्तित

करके इन्हें इलेक्ट्रॉनिक रूप में त्रयुफ्त करो हैं। डिजिटल कम्प्यूटर८का

उपयोग ब्यापार में, घर के बजट में एनीमेशन के क्षेत्र में विज्ञाए रूप से

किया जाता है। इसके उदाहरण हैं- डेस्कटॉप कम्प्यूटर, लैपटॉप आदि।

3.हाइब्रिड कप्प्यूटर 

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है :उन कम्प्यूटरों को कहा जाता है, जिनमें एनालॉग ग़था डिडिटल दोत्तों ही

कम्प्यूटरों के गुण सम्मिलित हों अर्थाए[/एनालॉग तथा डिजिटल’के मिश्रित

रूप को हाइब्रिड कम्प्यूटर कहा जाशा है। इसके ड्रांर .मौतिक मात्राओं को

अंको में परिवर्तित करके उसे डिजिटल रूप में ले आते है। चिकित्सा के

क्षेत्र में इसका सर्वाधिक उपयोग-होग़ा है। इसके डटाहरण हैं- 206 और

एछा&.५५5 मशीन।

Computer Hardware क्या है 

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है :हार्डवेयर देखा और छुआ जा सकता है कि घटक यानी कंप्यूटर के शारीरिक और ठोस घटकों का प्रतिनिधित्व करता है.

हार्डवेयर के उदाहरण का अनुसरण कर रहे हैं.

इनपुट डिवाइस – कीबोर्ड, माउस आदि

आउटपुट डिवाइस – प्रिंटर, मॉनिटर आदि

माध्यमिक भंडारण उपकरणों – हार्ड डिस्क, सीडी, डीवीडी आदि

आंतरिक घटकों – सीपीयू, मदरबोर्ड, रैम आदि

Computer के निम्‍न महत्वपूर्ण भाग होते है:-

• मोनीटर या एल.सी.डी. 

• की-बोर्ड/n 

• माऊस/n 

• सी.पी.यू./n 

• यू.पी.एस 

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है : मोनीटर या एल सी डी :- 

इसका प्रोयोग Computer के सभी प्रेाग्राम्स का डिस्‍प्ले दिखाता है। यह एक आउटपुट डिवाइस है। 

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है : की-बोर्ड :-

इसका प्रयोग Computer मे टाइपिंग लिए किया  जाता  है, यह एक इनपुट डिवाइस है हम केवल की-बोर्ड के माध्यम से भी कम्‍प्‍यूटर को आपरेट कर सकते है। 

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है : माऊस :-

माऊस  Computer के प्रयोग को सरल बनाता है यह एक तरीके से रिमोट डिवाइस होती है और साथ ही इनपुट डिवाइस होती है। 

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है : सी. पी. यू.(सेन्ट्रल प्रोसेसिंग यूनिट):-

यह Computer का महत्वपूर्ण  भाग  होता है हमारा सारा डाटा सेव रहता   है  Computer      के  सभी    भाग  सी. पी.  यू. से जुडे  रहते है। सीपीयू के अन्‍दरूनी भागों के बारे में जानें क्लिक करें। 

यू.पी.एस.(अनिट्रप पावर सप्लार्इ):-

यह   हार्डवेअर या मशीन Computer बिजली      जाने   पर सीधे बन्द होने से रोकती है जिससे हमारा सारा डाटा सुरक्षित रहता है।

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है : एक पोर्ट क्या है?

एक Computer पोर्ट एक extenal डिवाइस को कंप्यूटर से जोड़ा जा सकता है जिसके उपयोग से एक शारीरिक डॉकिंग बिंदु है.

एक Computer पोर्ट भी जानकारी कंप्यूटर के लिए एक कार्यक्रम से या Internat पर बहती है, जिसके माध्यम से कार्यक्रम डॉकिंग बिंदु हो सकता है.

Operating  System क्‍या है

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है :सही  शब्‍दों  में  Operating  System के बिना कंप्‍यूटर टिन  के टिब्‍बे से ज्‍यादा कुछ भी नहीं  है,   Operating   System   ही वह  जरिया है जिसकी  सहायता   से   हम   अपनी  बात   कंप्‍यूटर    Hardware  तक पहुॅचा  पाते     हैं   या   Hardware को  कमांड   दे  पाते हैं।   Operating  System   Hardware और हमारे  यानि यूजर्स  के    बीच एक पुल का काम करता है। अॉपरेंटिग System की बदोलत ही आप की-बोर्ड कोई      लैटर  टाइप  कर,  प्रिंटर  से उसका  प्रिंट निकाल सकते हैं। यानि जितना बढिया   अॉपरेटिंग      System आप टेंशन   उतनी  ही कम।

Operating  System  के पास यूजर्स, Hardware, प्रोग्राम  यानि Software का पूरा हिसाब-किताब  रहता है।     यानि अाप  इससे वही काम कर  सकते हैं जिसकी सुविधा इसमें दी   गयी हो इससे अन्‍य काम  लेने के     लिये  अापको आॅपरेटिंग     System  में अपनी सुविधानुसार प्रोग्राम यानि Software इंस्‍टॉल करने होते हैं। जैसे लैटर  टाइपिंग       एवं   ऑफिस   संबन्‍धी  कार्यो  के       लिये  एमएस ऑफिस या    Internat यूज करने  के  लिये ब्राउजर, इसके अलावा वीडियो और  ऑडियाे  प्‍ले करने  के   लिये  अॉडियो और वीडियो प्‍लेयर।

Software क्‍या होता है 

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है :Software Computer  का    वह Part   होता  है  जिसको   हम केवल   देख   सकते हैं   और      उस  पर      कार्य  कर      सकते            हैं, Software       का  निर्माण          Computer पर  कार्य  करने  को Simple    बनाने  के लिये किया   जाता  है,  आजकल     काम    के हिसाब    से  Software का  निर्माण   किया  जाता है, जैसा काम वैसा Software ।

Software को बडी बडी कंपनियों में यूजर की जरूरत को ध्‍यान में रखकर Software programmers द्वारा तैयार     कराती हैं,   इसमें  से कुछ free में   उपलब्‍ध होते  है तथा कुछ  के लिये चार्ज   देना  पडता है।    जैसे आपको  फोटो से सम्‍बन्धित  कार्य करना   हो  तो      उसके लिये Photoshop या    कोई वीडियो देखना  हो  तो उसके  लिये मीडिया प्‍लेयर का यूज करते है।

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस क्या है 

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है :माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस परस्पर संबंधित डेस्कटॉप अनुप्रयोगों और सेवाओं का समूह है, जिसे सामूहिक रूप से ऑफिस सूट कहा जाता है। माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस सर्वप्रथम सन् 1989 में माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन द्वारा मैक- OS के लिए शुरू किया गया। उसके पश्चात सन् 1990 में विंडोज के लिए प्रथम संस्करण लाया गया।

माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस 3.0 ऑफिस सूट का विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम का प्रथम संस्करण था। उसके बाद माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस 4.3, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस 95, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस 2000, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस ङ्गक्क तथा माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस 3003, माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस 2010 हैं। माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस के अंतर्गत मुख्यत: चार प्रोग्राम आते हैं-

1. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड

2. माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल

3. माइक्रोसॉफ्ट एक्सेस

4. माइक्रोसॉफ्ट पॉवर प्वाइंट

एमएस ऑफिस के ये प्रोग्राम अलग-अलग प्रकार के कार्यों को करने के लिए प्रयोग में लाए जाते हैं, लेकिन इन सभी की कार्यप्रणाली लगभग एक जैसी है। जिसमें किसी एक प्रोग्राम पर कार्य करना सीखने के बाद अन्य प्रोग्रामों को सीखना सरल हो जाता है। यही नही एमएस ऑफिस के एक प्रोग्राम से दूसरे प्रोग्राम में कोई चित्र, सामग्री या सूचनाएं लाना ले जाना अत्यन्त सरल है इसलिए इनसे हर प्रकार के मिश्रित कार्य का भी कम्प्यूटरीकरण किया जा सकता है।

माइक्रोसॉफ्ट वर्ड क्या है (Microsoft Word)

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है :माइक्रोसॉफ्ट वर्ड माइक्रोसॉफ्ट कॉर्पोरेशन द्वारा विकसित वर्ड प्रोसेसर है। इसका मुख्य कार्य दस्तावेज को संचालित करना है। यह एक वर्ड प्रोसेसिंग पैकेज है, जिसकी सहायता से साधारण दैनिक पत्र व्यवहार से लेकर डेस्कटॉप पब्लिशिंग स्तर के कार्य सुविधापूर्वक किए जा सकते हैं। इसमें परम्परागत मेन्युओं के साथ ही टूल बार की सुविधा भी उपलब्ध है।

जैसे- कॉपी करना, कट करना, जोडऩा, खोजना एवं बदलना, फॉन्ट, स्पेलिंग एंड ग्रामर की जॉच करना, बुलेट्स तथा नंबरिंग आदि। माइक्रोसॉफ्ट वर्ड 2007 तथा 2010 में दस्तावेजों को विभिन्न भाषाओं में अनुवादित करने की सुविधा भी उपलब्ध है।

Computer tips and tricks

सीडी /डीवीडी पर डाटा राईट करना

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है :सीडी /डीवीडी ड्राईव पर राईट क्लिक करें ->Properties ->Recording->Enable CD Recording on this drive ->Apply ->My Computer में उन फाईलों & फोल्डर्स को सेलेक्ट करें जिन्हें राईट करना है फिर उन्हें कॉपी करके सीडी /डीवीडी ड्राईव में पेस्ट करें फिर साइड पेनल के आप्शन Write these files on CD पर क्लिक करें

कमांड प्रोम्प्ट से वेब साईट खोलना

start->Run->cmd टाईप करके इंटर दबाए -> c:\> प्रोम्प्ट के आगे start www.promocoupon.in टाईप करके इंटर दबाए

रिसाईकिल बिन के डिलीट

कंफरमेशन डायलोग को बंद करना-रिसाईकिल बिन आईकोन पे राईट क्लिक करें ->Properties पे क्लिक करें ->Global टैब पर क्लिक करें -> Display delete confirmation dialog को अनचेक्ड करें -> Apply

दो कम्प्यूटरों को कनेक्ट करना

RJ-45(Register Jack-45) कनेक्टर्स जो क्रास वायर के दोनों सिरों पर लगें है का एक सिरा एक कम्प्युटर के नेटवर्क इंटरफेस कार्ड के LAN Port में और दूसरा दूसरे कम्प्युटर के नेटवर्क इंटरफेस कार्ड के LAN Port में लगा दें।

आईपी सेटिंग्स के लिए :

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है :Start -> Settings -> Network Connections->Local Area Connection पे राइट क्लिक करें-> Properties->Internet Protocol (TCP/IP) सलेक्ट करें-> Properties बटन पे क्लिक करें। दोंनों कंप्यूटरों में Use the Following IP Address को चुनें और हर कंप्यूटर का यूनीक आईपी एड्रेस डालें।एक कंप्यूटर का आईपी एड्रेस 192.168.1.1 रखें और दूसरे का 192.168.1.2 ->Subnet Mask बॉक्स में 255.255.255.0 डालकर ओके बटन दबा दें। यह प्रक्रिया दोनों कंप्यूटरों में करें।

वर्कग्रुप ऐसे बनाएं

सबसे पहले Start ->Control Panel->System पर जाएं -> Computer Name tab पर जाएं और Change बटन पर क्लिक करें। Computer Name Changes डायलॉग बॉक्स में अपने कंप्यूटर का नाम डालें। यह प्रक्रिया दूसरे कंप्यूटर में भी दोहराएं और उसे एक दूसरा नाम दें।

कंप्यूटरों को जोड़ने वाले वर्कग्रुप (नेटवर्क) का भी एक नाम होना चाहिए।कंप्यूटर का नाम देने के बाद उसके नीचे ही Member of Workgroup नामक बॉक्स में अपने वर्कग्रुप का नाम भर दीजिए (जैसे me Network)। यह प्रक्रिया दोनों कंप्यूटरों में पूरी करें। याद रहे, दोनों कंप्यूटरों के वर्कग्रुप का नाम एक समान होना चाहिए। ओके बटन दबा दें और दोनों कंप्यूटर एक बार रिस्टार्ट होंगे। रिस्टार्ट होते ही आपका नेटवर्क तैयार होगा।

फोल्डर शेयरिंग What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है :

दोनों कंप्यूटरों में एक-एक फोल्डर बना लीजिए, इसे कोई नाम दीजिए।इस फोल्डर पर राइट क्लिक करें Properties पर क्लिक करें। अब Sharing tab को सलेक्ट कर लें। अब Share this folder को सलेक्ट करें और फिर SharedFolder जैसा कोई नाम दीजिए। दूसरे कंप्यूटर में आपको अपना शेयर्ड फोल्डर इसी नाम से दिखाई देगा। अब OK बटन दबा दीजिए।

उपयोग करें : Start -> Settings -> Network Settings->My Network Places पर क्लिक करें। अब Entire Network पर क्लिक करें और फिर Microsoft Windows Network पर डबल क्लिक करें। अपने वर्कग्रुप के नाम पर डबल क्लिक करके देखिए, दूसरे कंप्यूटर का नाम दिखाई देगा। दूसरे कंप्यूटर के नाम पर क्लिक करके देखिए, उसमें आपका शेयर्ड फोल्डर दिखाई देगा और उसके भीतर पड़ी फाइलें भी। अब इस कंप्यूटर की फाइलें दूसरे कंप्यूटर पर access होने लगी हैं। इधर से फाइलें उधर कॉपी करके देखिए।

सिस्टम रिस्टोर करना

पहले सभी खुले हुए प्रोग्राम्स बंद कर दे ; start -> all programs -> Accessories ->system tools ->system restore ->create a restore point ->next ->restore -> point description यहाँ रिस्टोर पॉइंट का नाम टाइप करें -> create -> home -> restore my computer to an earlier time -> next -> select a restore point -> next -> next ->अब कम्प्यूटर रिस्टार्ट होने दें ->ok

एमएस एक्सेस में टेबल & फॉर्म बनाना

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है : start -> all programs -> Microsoft Office ->microsoft office access 2007-> Blank Database -> file name यहाँ डाटाबेस का नाम टाइप करें ->create ->अब फील्ड का नाम टाइप करते जाएं और टैब या इंटर दबातें जाएं ;फिर कोलम हेडिंग के नीचे डाटा भरें ->create menu -> more forms -> form wizard ->यहाँ टेबल को सेव करने के लिए पूछा जाएगा ; yes पे क्लिक करें ->नाम टाइप करके ;ok पे क्लिक करें ->अब select all >> पे क्लिक करें -> next -> next ->next ->finish अब नेवीगेशन कंट्रोल से अगले ;पिछले रेकॉर्ड्स देख सकते है।

विंडो को बिना फॉर्मेट किए रीईन्स्टोल करना

जब फोर्मेट के अलावा कोई और ओप्संश ना होतो सारा डाटा कॉपी कर ले फिर Start बटन पर क्लीक करे और Run में जाकर webfldrs.msi टाईप करे.इसके बाद जो डायलोग बॉक्स आएगा उसमे आप Select Reinstall Mode बटन पर क्लीक करे .इसके बाद जो डायलोग बॉक्स आएगा उसमे आपको सारे ओप्संश पर क्लिक करके OK बटन पे क्लिक करना है.इसके बाद कंप्यूटर अपने आप रिस्टार्ट हो जायेगा और विंडोस के सारे एलीमेंट्स रीईन्स्टोल हो जाएंगे !

विंडोस का स्टार्टिंग साउंड बदलना

What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है : start-> control panel ->sound,speech and audio devices ->change the sound scheme ->program events:start windows->Browse->यहाँ साउंड फाइल को लोकेट करके ok पे क्लिक करें ->apply

स्क्रीन शोर्ट लेना :- किबोर्ड पे prt sc की दबाएँ फिर पेंट या वर्ड में edit मेनू से पेस्ट पे क्लिक करें

विंडोस को मिनिमाज करने के लिए

सभी खुली हुई विंडोस को मिनिमाज करने के लिए – window+m या window+d

What is Computer in Hindi VIDEO

READ: Windows Shortcut Keys : विंडोज शॉर्टकट कीज़

READ: Tally Shortcut Keys : टैली शॉर्टकट कीज़

READ: Illustrator Shortcut Keys : इलस्ट्रेटर शॉर्टकट कीज़

READ: Photoshop Shortcut Keys : फोटोशॉप शॉर्टकट कीज़

READ: MS Paint Shortcut Keys : एमएस रंग शॉर्टकट कीज़

READ: ग्लोबल वार्मिंग क्या है: Global Warming in Hindi

Conclusion:

तो दोस्तों अगर आपको हमारी What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है यह पोस्ट पसंद आई है तो इसको अपने दोस्तों के साथ FACEBOOK पर SHARE कीजिए और WHATSAPP पर भी SHARE कीजिए और आपको ऐसे ही POST और जानकारी चाहिए तो हमें कमेंट में आप लिख कर बता सकते हैं उसके ऊपर हम आपको अलग से एक पोस्ट लिखकर दे देंगे दोस्तों.


HI HINDIYOUTH.COM AAP KO JOBS, ONLINE EARNING, EDUCATION, BUSINESS, INVESTMENT, CAREER TIPS GUIDE DETA HE. HINDI ME TAKI AAP KI THORISI HELP HO SAKE, ME CHAHTA HU KI INDIA KE YUVA KO SAHI KNOWLEDGE MIL SAKE JO UNKE KAAM KA HO.

Leave a Comment

0 Shares
Share
Tweet
Pin
Share