ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi

नमस्ते दोस्तों आज हम ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi के बारे में बात करने वाले हैं, तो दोस्तों हम आपके लिए Operating System in Hindi पोस्ट लाए हैं, चले  ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi जाने हिंदी में। जानते हैं आपको बहुत सारी नॉलेज देगी, हमारी HindiYouth.com वेबसाइट का एक ही मकसद है कि हिंदुस्तान के युवाओं को सही जानकारी मिल सके.

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi
ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi

आप को पताही गोगा के इन्शान को जिनके लिए दिल एक जरूरी हिससा होता है।  क्या आप जानते है के दिल कैसे काम करता है। मतलब ये है की जेसे दिल काम करता है वैसेही कंप्यूटर को चलाने के लिए Operating System (os) काम करता है।  

आप सभी ने कही न कही सुना तो होगा ही के mobile और computer में Android, Windows, Mac, Linux ऑपरेटिंग सिस्टम है।  तो इसेही ऑपरेटिंग सिस्टम कहते है। जैसे Android kitkat और Android Oreoजो मोबाइल के ऑपरेटिंग सिस्टम है और Windows 10, Windows 7, Linux  जो कंप्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम है। 

Operating System के बारेमे सबको थोड़ा कुछ तो पताही है। लेकिन सबको ये नहीं पता की Operating System का क्या काम होता है। कैसे काम करता है ,कहा पे बनता है, कैसे use करे Operating System की सारी जान करि ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi इस पॉट में आप को हम देने वाले है। 

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi : सही   शब्‍दों   में ऑपरेटिंग सिस्‍टम के बिना कंप्‍यूटर टिन के टिब्‍बे से ज्‍यादा  कुछ   भी नहीं है,  ऑपरेटिंग सिस्‍टम  ही वह   जरिया है जिसकी   सहायता  से   हम     अपनी  बात   कंप्‍यूटर  हार्डवेयर  तक पहुॅचा     पाते  हैं    या हार्डवेयर को कमांड  दे  पाते      हैं। ऑपरेटिंग सिस्‍टम   हार्डवेयर और हमारे  यानि यूजर्स के  बीच एक   पुल  का काम करता है। अॉपरेंटिग सिस्‍टम की बदोलत ही आप की-बोर्ड कोई     लैटर  टाइप कर, प्रिंटर   से  उसका प्रिंट  निकाल  सकते हैं। यानि   जितना बढिया   अॉपरेटिंग सिस्‍टम  आप टेंशन   उतनी    ही कम।

ऑपरेटिंग सिस्‍टम के पास  यूजर्स, हार्डवेयर, प्रोग्राम  यानि सॉफ्टवेयर  का पूरा हिसाब-किताब रहता  है।   यानि  अाप  इससे वही काम कर   सकते हैं जिसकी सुविधा इसमें दी गयी हो  इससे अन्‍य    काम लेने  के  लिये  अापको     आॅपरेटिंग सिस्‍टम  में अपनी सुविधानुसार प्रोग्राम यानि सॉफ्टवेयर इंस्‍टॉल करने होते हैं। जैसे लैटर      टाइपिंग  एवं       ऑफिस संबन्‍धी कार्यो     के  लिये    एमएस ऑफिस या इंटरनेट   यूज  करने के लिये ब्राउजर,  इसके  अलावा वीडियो और  ऑडियाे प्‍ले  करने  के   लिये अॉडियो  और वीडियो प्‍लेयर।

1. MS Dos Windows

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi : सबसे  पहले  विंडो  की        शुरुआत   हुई  थी  1981 में  उस   समय इसका   नाम    MS   Dos Windows था जिस की     फुल  फॉर्म होती थी माइक्रोसॉफ्ट  डिस्क ऑपरेटिंग सिस्टम और यह   IBM के    पर्सनल  कंप्यूटर    के   लिए        बनाया   गया   था.      इसमें यूजर इंटरफेस  के नाम पर कुछ भी  नहीं था.  इसमें आप सिर्फ कमांड टाइप करके इस्तेमाल कर सकते थे.  उस समय कंप्यूटर की एक सिर्फ  ब्लैक   स्क्रीन    होती   थी.और     उस पर आप कमांड   टाइप करके  लिख   सकते  थे.

और जो     आप  वर्ड  लिखते  थे .वह  हमें सफेद    कलर का दिखाई    देता  था.   और इसमें जो     एप्लीकेशन होती थी. वह  Dos        एप्लीकेशन  होती   थी.   डिस्क   ऑपरेटिंग सिस्टम  इस  तरह से   ही  काम  करता है.  इसमें     आय कैन आदि चीजें नहीं होती थी. इसमें कुछ भी नहीं होता था. बस सिर्फ एक ब्लैक  कलर     की स्क्रीन और उसके ऊपर जो  आप सफेद कलर के    वर्ड लिखते थे. वह लेकिन यहां  से तो सिर्फ पर्सनल कंप्यूटर की   शुरुआत  हुई थी.     और   यहां  से शुरुआत    होने के बाद   यह दुनिया के लगभग घर घर में पहुंच गया. 

2.Windows 1.0

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi : उसके  बाद         1985 में   विंडो  ने      लांच कर   दिया  अपना    नया ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज 1.0 इस ऑपरेटिंग सिस्टम की सबसे खास   बात यह है   कि  इसमें  आपको सिर्फ  टाइप ही नहीं करना होता था. इसमें आप पॉइंट  करके विंडो जो बॉक्स का   इंटरफ़ेस होता  है. जिसको आज के     समय में   हम    देखते      हैं.  इसमें  वह Introduce  कराया  गया था.    इसमें  हम लिखने के साथ-साथ सिलेक्ट  भी कर सकते  थे. और हम इसके ऊपर क्लिक  भी कर सकते हैं. यह इसका एक बहुत ही बढ़िया Feature था. 

3.Window 2.0

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi : उसके बाद फिर      विंडो    ने   1987       में अपना एक   और        नया ऑपरेटिंग   सिस्टम  लॉन्च किया और यह  Windows 2.0 था. इस ऑपरेटिंग सिस्टम की  सबसे अच्छी बात यह थी.    कि इसमें इसमें   हमें कीबोर्ड  के शॉर्टकट   मिलने लगे थे. इसमें एक   icon भी  मिलने   लगे थे.   इसमें  हमें    एक्स्ट्रा   ग्राफिक   का सपोर्ट    भी मिलने   लगा.  जो  हमें देखने की  चीजें  होती  थी  उनको देखने में काफी   बदलाव आए.  इंटेल के जो  286   प्रोसेस आए  थे. उनके लिए यह ऑपरेटिंग सिस्टम  खास तौर पर तैयार किया  गया था. और यह उसके ऊपर बहुत अच्छी तरह से चलता था. MS Dos का  सपोर्ट    तो      उसमें   इस    समय   भी   था.    लेकिन यह   पुराना ऑपरेटिंग  सिस्टम था. लेकिन  इस को बदलकर  काफी एडवांस कर दिया गया. और यह विंडो बहुत ही पॉपुलर रही.

4. Windows 3.0

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi : 1987 के बाद  माइक्रोसॉफ्ट ने  अपना    ऑपरेटिंग  सिस्टम    एक बार  फिर से  बदला और अब आ चुकी थी. विंडो  3.0 और  3.1 यह 1990 और 1994 के बीच में आई थी.  और   यह उस  समय में  बहुत    ही        पॉपुलर  ऑपरेटिंग  सिस्टम   रहा.   इस  ऑपरेटिंग सिस्टम के आते   ही बिल्कुल   सब   कुछ   एकदम से   बदल  गया. इसमें 16 Bit कलर   का  सपोर्ट मिलने लगा. और इसमें एडवांस ग्राफिक का सपोर्ट  भी मिलने लगा.और  इस  ऑपरेटिंग  सिस्टम को इंटेल के 386 के प्रोसेसर के लिए बनाया गया था. इसमें हम बहुत ज्यादा चीजें  इस्तेमाल    कर सकते थे.  

जैसे Icon एडवांस ग्राफिक माउस  और   कीबोर्ड का सपोर्ट भी  अच्छा   मिलने लगा था.      और इस   ऑपरेटिंग     सिस्टम   को          बहुत  ही      अच्छे     से ऑप्टिमाइज़ किया    गया. इसमें  एकदम से नया    बदलाव  देखने को मिला   और  इसमें  फाइल   मैनेजर  और प्रोग्राम मैनेजर   जैसी चीजें   दी  गई.    और   यह   ऑपरेटिंग सिस्टम कंप्यूटर   का   सबसे पहला ऑपरेटिंग  सिस्टम जहां से कंप्यूटर गेम की  शुरुआत हुई. उसके   साथ ताश का गेम   आया.  और   यह    विंडो वह  बहुत  ही पॉपुलर विंडो रही. 

5. Windows NT

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi : 1993 और    1996 के बीच में एक बार  फिर से माइक्रोसॉफ्ट ने अपना नया  विंडो   ऑपरेटिंग सिस्टम लॉन्च किया जिसका नाम था. Windows NT यानी  Window New  Technology यह   भी   एक 32  Bit का ऑपरेटिंग सिस्टम    था.  और   यह वर्क स्टेशन और सर्वर के लिए बनाया गया था. सबसे पहली बार यदि किसी कंप्यूटर में  ज्यादा अच्छी तरह से Multitasking दी गई थी. तो उसकी   शुरुआत  Windows   NT से हुई थी.  और  यह 1993 से 1996 के  बीच में  बहुत  ज्यादा     पॉपुलर  हुई थी. और सर्वर और  वर्क स्टेशन  के तौर पर  इसको काफी इस्तेमाल किया जाता था.

6. Windows 95

और उसके बाद 1995 एक बार फिर इस ऑपरेटिंग सिस्टम को बदला गया और फिर आई विंडो 95 इसकी जो मुख्य  हाईलाइट थी. वह इसके जो सोफ्टवेयर थे वो 32  Bit Architecture के ऊपर   चलने लगे.       यानि   की     इस   ऑपरेटिंग  सिस्टम   के लिए स्पेशल    सॉफ्टवेयर तैयार   किए   जाने   लगे. और वह सॉफ्टवेयर इसके   ऊपर    बहुत ही  तेजी   से काम करने  लगे. इसमें Plugin Play   का सपोर्ट   भी मिलने   लगा.  यानी  कि  प्रिंटर आदि  जैसी चीजें  जोड़ सकते थे. यह अपने आप ही पता  लगा लेता था  कि इसमें  कौन सा हार्ड ड्राइव यानी  कौन सा हार्डवेयर  लगाया गया है.  यह     ऑपरेटिंग   सिस्टम काफी एडवांस  था.

 जैसे   कि   हमने आपको  बताया  यह 32  Bit  Architecture  मतलब  640  K की जो   मेमोरी   होती थी.  वह इस    समय बंद हो चुकी थी. इसमें किसी  भी तरह  का  प्रतिबंध  नहीं था और  इसके साथ  ही जो  8 वर्ड का फाइल  नाम होता  था. वह   भी  प्रतिबंध  नहीं    था   इसमें आप कितन भी  लम्बा फाइल    का नाम   रख सकते हैं.  और  जो मेन मेमोरी होती थी 640 K की वह भी बदल कर अब ज्यादा हो चुकी थी.  जो   ज्यादा  हैवी कंप्यूटर   की शुरुआत  थी. वह     आप यहां से कह सकते हैं. कि विंडो 95 से शुरू हुई थी. 

7.Windows 98

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi : उसके    बाद 1998  में        आई विंडो 98  इसमें मुख्य रूप से जोर दिया गया था. USB ,DVD प्लेयर पर यह सभी चीजें इस विंडो में दी  गई   थी. और    यह   पहला ऑपरेटिंग  सिस्टम  था.    जिसमें किसी भी  तरह का   कोई फर्क नहीं    था.    कि  आप कोई लोकल फाइल स्टोर कर रहे हैं. या किसी इंटरनेट के ऑनलाइन सर्वर पर डाउनलोड कर रहे हैं. इन दोनों   में  कोई  भी फर्क नहीं  था. दोनों तरीकों से आप एक्सेस कर सकते थे. उसमें कोई फर्क नहीं होता था.

     कि  वह  अपने  ऑनलाइन   सेव   किया   है.   या पहले से   ही आपकी मेमोरी में सेव है. इसकी एक और खास बात थी कि यह इसमें एक्टिव डेक्सटॉप था.और सबसे   पहली   बार  अगर किसी ऑपरेटिंग  सिस्टम  में  इंटरनेट एक्सप्लोरर  दिया गया था. तो  वो इसी में दिया गया था. इसमें इंटरनेट एक्सप्लोरर पहली बार देखा गया था.

8. Windows ME

इसको सन 2000    में लांच  किया   गया    था. वैसे  तो उसमें कोई खास बदलाव नहीं किए गए थे. क्योंकि यह Windows 98 का ही अपडेट वर्जन था. लेकिन इसमें Boot और Dos के ऑप्शन को हटा लिए लिया गया था. और छोटे मोटे और   अपडेट  करके इसको सन 2000 में नए नाम से लॉन्च किया गया. 

9.Windows 2000

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi : माइक्रोसॉफ्ट ने सन 2000 में अपना एक बार फिर से ऑपरेटिंग सिस्टम लॉन्च किया   और उसने  विंडो  2000 लांच की जिसको विंडो  W2K भी कहा जाता था. इस  ऑपरेटिंग सिस्टम में मुख्य रूप   से     Network   Resources पर ज्यादा     ध्यान           दिया गया.इससे  आप अपने कंप्यूटर  को   इंटरनेट  से जोड़ सकते    थे. अपने कंप्यूटर को प्रिंटर से जोड़  सकते थे.   वह बहुत अच्छी थी और इस ऑपरेटिंग सिस्टम को इस तरह से बनाया गया था.  कि आप     इसको सर्वर की    तरह भी  इस्तेमाल कर   सकते  थे. इसमें प्रिंटर  का  बहुत ज्यादा  अच्छा सपोर्ट   मिला था  प्रिंटर को सबसे ज्यादा   अच्छी तरह से  इस्तेमाल विंडो 2000 में ही  किया    जाने लगा था.

और इसके साथ ही आप इंटरनेट से इसको आसानी से कनेक्ट  कर  सकते थे.  पहले वाली      विंडो में आप  इंटरनेट     को आसानी से कनेक्ट नहीं कर पाते थे.  और यह पहला  ऑपरेटिंग सिस्टम  था  जो लैपटॉप  पर चल सकता था. क्योंकि उस जमाने में लैपटॉप भी   नई चीज   थी. यानी   यह   एक  चमत्कार  ही       था क्योंकि उस समय   में कंप्यूटर भी बहुत  कम हुआ करते थे. और उस  समय में    अगर कोई   आदमी चलता फिरता कंप्यूटर   अपने पास  रखता है. तो  वह तो किसी   चमत्कार     से  कम      नहीं हुआ करता    था.  

इसमें     लैपटॉप   का भी  अच्छा सपोर्ट मिलने    लगा. इसमें   एक और भी  नई  चीज मिली थी.    इसमें  जो  हाई   ट्रैफिक डाटा  Central  होते थे. वहां पर भी इस ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल किया गया. क्योंकि जैसा की हमने आपको बताया कि इस ऑपरेटिंग  सिस्टम    में   Network  Resources  अच्छे से कर सकते थे.इसीलिए इसको जहां पर बहुत ज्यादा हाई ट्रैफिक डाटा Central होता  था.  वहां पर  इसका इस्तेमाल किया जाने लगा.

10.विंडोज एक्स-पी (Windows-XP):-

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi : Windows   -XP  माइक्रोसॉफ्ट कारपोरेशन प्राइवेट लिमिटिड का  सबसे पावरफुल प्रोग्राम   है जिजसे कम्पनी  ने सन् 2001 में उतारा था    Windows  -XP भी  Windows के  पिछले सभी विण्डोज़   की ही तरह  एक आपरेटिंग   सिस्टम   और एप्लीकेशन सॉफ्टवेर का मिलता हुआ रूप है | Windows -XP में पिछले सभी        वर्जन     जैसे      Windows    -98   ,   Windows  -MP ,Windows      -2000 आदि  से     अधिक    प्रभावशाली           है |

Windows    -XP होम यूजर  और प्रोफेशनल  यूजर      दोनों   के कार्य को ध्यान में  रख कर   बनाई  गई है  Windows    -XP  को कम्प्यूटर में स्थापना   करने हेतु कम  से कम 128 MB रैम , 1.5 GB   फ्री  स्पेस   हार्डडिस्क  में      तथा प्रोसेसर कम   से  कम  450 Mhz होना   अवश्य होना  चाहिए  | Windows -XP में  मल्टी यूजर एकाउंट बना सकते   है इससे यह  फायदा  है कि कई  यूजर एक ही  कंप्यूटर   पर अपने उपयोगिता  के  अनुसार       सॉफ्टवेयर इन्स्टाल कर   उनका इस्तेमाल आसानी  से कर सके और   आपने पर्सनल एकाउंट बना सके  , जिससे  यूजर   को कोई  परेशानी   न हो | 

—-> विविन्डोज़ XP के लिए आवश्यक हार्डवेयर

माइक्रोसॉफ्ट       के   अनुसार  विंडोज         XP आगामी   पीढ़ी       का आपरेटिंग   सिस्टम           (Next        Generation Operating System ) है | यह पुराने हार्डवेयर पर  भली -  भांति नहीं चल पाता       इसके   लिए        कम्प्यूटर में आवश्यक    न्यूनतम  हार्डवेयर (Minumum   Hardware ) और अनुमोदित       हार्डवेयर (Recommended Hardware )  निम्नलिखित तालिका में दर्शाए       गए  है –    Component    Minimum Hardware Recommended      Hardware Processor    Pantium III-233MHz Pantium III  500  MHz       RAM       64   MB 125MB  Free  Disk Space  1 GB    2 GB Monitor 15 Inch  17 Inch विण्डोज़ XP   में भली -     भांति कार्य  करने के लिए RAM तथा Free Spece अधिक मात्रा में होना चाहिए|

—-> Quick User Switching:-

विण्डोज़ XP में हम किसी अन्य प्रयोगकर्ता के प्रोग्राम्स को बन्द किये बिना और    कम्प्यूटर को       बिना      रिस्टार्ट किये भी   आपने एकाउण्ट को /बबमे कर सकते है| 

—-> Windows  Messenger:-

विण्डोज़   XP में  अब   हम  आपने किसी परिचित ,  मित्र  अथवा परिवार के सदस्य के रियाल टाइम में टैक्ट मैसेज , वायस मैसेज अथवा वीडियो मैसेज के द्वारा पहले से अधिक गुणवत्ता के साथ सम्प्रेषण (Communicate ) कर सकते है| इन्टरनेट से जुड़ने के   उपरान्त    वांछित  व्यकित    के ऑनलाइन   होने पर   यह कार्य किया जा सकता है| 

—-> System Restore:-

यदि हमारे सिस्टम से     कुछ गलत  होता   है और    हमारा  सिस्टम सुचृ रूप से कार्य नहीं कर प रहा है तो हम अब पहले कार्यकारी स्थिति    पर   कंप्यूटर को      लाने के  लिए  सिस्टम  को  रेस्टोर   कर सकते है| 

—-> Advanced Performances:-

विण्डोज़ XP   सिस्टम  रिसोर्सेज को इस प्रकार मैंने करती  है कि हमारा सिस्टम विण्डोज़   98 कि अपेक्षा  45%   अधिक तेजी से कार्य करता है| 

—-> विन्डोज़ XP इन्स्टालेशन करना:-

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi : कम्प्यूटर में विन्डोज़ XP को इन्स्टाल करने के लिए कम्प्यूटर के BIOS  निर्धारण    में     Frist Boot      Disk में     CD ROM का निर्धारण करने  के उपरान्त,   सीडिरोम में  विन्डोज़  XP कि CD लगा  दी जाती है अब  विन्डोज़ XP का स्थापन प्रारम्भ हो जाता है|

विन्डोज़ Setup हमारे  सिस्टम  की  पूर्ण जाँच करता है   इस जाँच के   अंतर्गत विण्डोज़  सैटअप सिस्टम में स्थापित   विन्डोज़ कम्पोनेन्टस को भी देखता है और यह भी सुनिश्चित करता है की इन्स्टालेशन के पूर्ण होने  के लिए डिस्क में  आवश्यक  स्थान है , अथवा    नहीं  ,     विन्डोज़ XO   के निर्धारण   के  लिए    आवश्यक फाइल्स को सिस्टम में कॉपी करने के उपरान्त सैटअप विजार्ड , कम्प्यूटर को   रिस्टार्ट     करता    है और  विन्डोज़  कि   इन्स्टालेशन प्रक्रिया को पूर्ण करने को अग्रसित होता है|

अबविन्डोज़  सैटअप कन्ट्रोल पैनल        का   निर्धारण   करता है, स्टार्ट मेन्यू में प्रोग्राम्स      को पंकितवैध  करता है   और अन्त  में  सिस्टम सेटिंग्स को अपडेट करता है सिस्टम सेटिंग्स को अपडेट करने में कुछ  करने में  कुछ  समय लगता है और  इसके   उपरान्त सिस्टम एक  बार पुनः  रिस्टार्ट  होता  है अब मॉनीटर स्क्रीन Welcome To     Windoes    स्क्रीन     का  प्रदर्शन में   विण्डोज़  XP   के  नए फीचर्स के बारे में वीडियो प्रदर्शन होता है|

विन्डोज़XP का एक    प्रमुख  फीचर   यूजर    नेम   (User   Name) तथा पासवर्ड ( Password )  है  इसके आभाव में  विण्डोज़ का  यह संस्करण कार्य नहीं करेगा इससे पूर्व के संस्करणों में हम इस की दबाकर इसे Bypass कर सकते थे, परन्तु इसमें यह  आवश्यक रूप     से   दिया    जाता  है  अतः   यहां पर  हमें      अपना   नाम  और पासवर्ड सावधानी से टाइप करना होता है|

10.Windows Vista

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi : 2006 में   एक बार  फिर  से   माइक्रोसॉफ्ट    ने  अपना   ऑपरेटिंग सिस्टम   लॉन्च  किया और  उसने  अब Windows   Vista   को लांच   किया Windows   Vista   विंडो     XP   के    बाद  में  आई थी.Windows Vista विंडो XP  से बहुत  ज्यादा एडवांस  थी. क्योंकि आप शायद जानते होंगे कि विंडो XP जो थी. वह Boot बहुत      समय  लगाती    थी.  

लेकिन   Windows       Vista           में Booting  टाइप  में  बदलाव  किये गये.        और    इस    ऑपरेटिंग सिस्टम   में और भी बहुत सारे बदलाव किए  गए. यह  लाइट वेट ऑपरेटिंग    सिस्टम   था.       जल्दी Boot   हो  जाता  था.और कुछ प्रोग्राम तो     इसमें बहुत   ज्यादा  स्पीड चलते    थे.          और  इसको Manage  करना भी बहुत     ही आसान  था. और इसमें Error नहीं   आते  थे. क्योंकि  विंडो   XP  अच्छा     सिस्टम तो है. लेकिन इसको   इस्तेमाल   करना और   इसको  Error  फ्री    रखना   बहुत मुश्किल   होता  था.  

आपको   याद भी होगा क्योंकि विंडो  XP में सबसे ज्यादा  वायरस      आते    थे.  इसलिए   उन  को मैनेज करना बहुत मुश्किल होता था. हालांकि फीचर्स के हिसाब से विंडो XP आज   भी बहुत पॉपुलर मानी जाती है.  लेकिन  सिर्फ Error के कारण उसको  अच्छे   से मैनेज  नहीं कर  पाते    थे. उस  चीज को देखते  हुए Windows Vista लांच किया  गया.  और  यह  कम हार्डवेयर का    इस्तेमाल करता था.  और  कुछ छोटे-मोटे बदलाव करके  इसको लांच किया गया. और    इसका सबसे बड़ा  फायदा यह है. कि यह विंडो XP से कम बैटरी इस्तेमाल करता था. 

11.Windows 7

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi : उसके   बाद       माइक्रोसॉफ्ट   ने  सन   2009   में एक   बार फिर  से अपना बहुत  ही  बढ़िया और  पॉपुलर ऑपरेटिंग  Windows 7 को लांच   किया    यह   बहुत  ही   ज्यादा   एडवांस   और   दिखने में बिल्कुल अलग थी.और इसमें वर्चुअल हार्ड डिस्क का सपोर्ट भी इसमें देखने को  मिला   इसमें इंटरनेट    एक्सप्लोरर 8 दिया  गया. और मीडिया   सेंटर       का   भी       काफी अच्छा सपोर्ट  मिला.   यह दुनिया   का     सबसे पहला      ऑपरेटिंग    सिस्टम था.

जिसमें   टच इंटरफ़ेस को दिया गया. और इस दौर में टच कंप्यूटर या लैपटॉप आने लगे थे.     अगर  हम बात करें इस ऑपरेटिंग सिस्टम  के  पूरे सफर  की  तो         विंडो XP के   बाद   यह   दूसरा ऐसा      ऑपरेटिंग सिस्टम था. जिसने दुनिया में बहुत बड़ा बदलाव  ला  दिया. और आज के समय  में  भी   विंडो  10 से ज्यादा लोग  Windows  7 का  इस्तेमाल करते  हैं.  यहां  तक   तो Windows 7    का  सफर बिल्कुल    बढ़िया   रहा.    लेकिन आगे    कुछ  ऐसा  होने   वाला  था जिसके बारे में किसी ने कभी सोचा भी नहीं होगा.

12. Windows 8

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi : यह     माइक्रोसॉफ्ट  ऑपरेटिंग  सिस्टम का लगभग  सबसे  खराब समय   रहा   जब  2012 में विंडो  ने   माइक्रोसॉफ्ट  ने अपना नया ऑपरेटिंग सिस्टम     विंडोज  8 लांच  किया. और   जिसके        बाद Microsoft को बहुत पछताना  पड़ा.  क्योंकि  यह  बिल्कुल भी विंडो  नहीं  लगती थी और  यह बिल्कुल नई डिजाइन   की   विंडो थी. जब उसको लोड करते थे. तो टाइल जैसे डिब्बे आ जाते थे. मेट्रो   की  नई  थीम विंडो ने सोचा  कि इसको हम इसमें  लगा देते हैं. क्योंकि यह टच कंप्यूटर का दौर था. जब हम किसी भी चीज को  टच करके  चलाते   थे.  और लिए माइक्रोसॉफ्ट  ने   सोचा  कि इसमें टाइल के जैसे  मेट्रो थीम लगा दी    जाए. 

 लाइव टाइल   का अपडेट  उसमें देखने को    मिलता.   ARM    और  X86 यानि  32 बिट और ARM  प्रोसेसर इनके साथ   बहुत  अच्छे से चलती थी. यह बिल्कुल      ही  लाइट  वेट  ऑपरेटिंग सिस्टम  था.      यह  बहुत ज्यादा    विंडो  सेवन  से    मिलता  जुलता था.  लेकिन इसका लुक बिल्कुल    अलग था. लोगों को यह    लुक पसंद नहीं   आया. और यह विंडो बहुत    ही असफल रही   क्योंकि यह   सिर्फ  इसके लुक की     वजह      से   रही  वह   पॉपुलर   नहीं    हो    पाई. अगर     उसका डिजाइन बढ़िया होता तो वह शायद बहुत अच्छे से इस्तेमाल की जा सकती थी. 

13. Windows 10

ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi : उसके  बाद   फिर 2015 में      उन्होंने अपना         नया      और  सबसे एडवांस ऑपरेटिंग सिस्टम विंडोज 10 को लांच किया जो आज के समय में भी हमारे लगभग सभी की कंप्यूटर में चलती है. यह बहुत    ही एडवांस  विंडो थी. और इसका लुक भी चेंज कर दिया गया था.  और माइक्रोसॉफ्ट ने  अपनी  पिछली गलती को  सुधार दिया.  और वापस पिछली चीजों को   इसमें  लगा दिया गया  वैसे ही  स्टार्ट  बटन  को भी     इसमें  लगाया गया.     लेकिन एक गलती फिर   भी उन्होंने जरूर  की    उन्होंने   टाइल फिर भी  उसके  अंदर जरूर  दी.   और इस ऑपरेटिंग सिस्टम  में सबसे     ज्यादा       स्टार्ट बटन  और     टाइल्स का     मेल         देखने        को    मिला.और    इसमें माइक्रोसॉफ्ट   के   द्वारा  इंटरनेट एक्सप्लोरर  को सुधारने की   भी कोशिश की गई.

जैसेकी  आप सभी  जानते  हैं.  कि इंटरनेट एक्सप्लोरर बहुत ही  स्लो चलता है.  और इस लिए बहुत लोग परेशान  भी हैं.  लेकिन फिर माइक्रोसॉफ्ट    ने  इसको   सुधारा   और      उस  ब्राउज़र    का      नाम बदलकर   नया      ब्राउज़र      तैयार    किया    और उसका नाम   रखा Microsoft Edge और इस ऑपरेटिंग सिस्टम के साथ इसको दिया   गया    और  यह बहुत ही फास्ट ब्राउज़र है.  और यदि  आप लैपटॉप का इस्तेमाल करते हैं   तो Google Chrome  ज्यादा पावर इस्तेमाल करता  है.    और    Microsoft  Edge बहुत   ही कम पावर लेता है. और अब विंडो ने कुछ ऐसी शर्तें भी लागू की यदि आप    की Copy Pirated है.  या  आपने   Crack की है.

या   उसमें    Key  लगाई है.    क्या  आपने  कुछ भी  करके   उसको Crack किया     है.  तो भी  आप  को विंडो  10 के  लिए   अपडेट जरूर मिलेंगे. तो आप बिना किसी दिक्कत के आराम से इसको अपडेट कर  सकते हैं.   इसके बाद लोगों को अपडेट मिलने शुरू हो गए. कि     चाहे  कैसी  भी  Copy Pirated    हो और वह  भी अपडेट होने   लगी.  क्योंकि  माइक्रोसॉफ्ट     चाहता था.  कि लोग किसी भी तरह से विंडो 8 को बदल कर विंडो 10 इस्तेमाल करें. और जो  माइक्रोसॉफ्ट   की गलती थी. जो विंडो      8 के साथ की गई थी वह ठीक हो जाए.

तोइस तरह से  माइक्रोसॉफ्ट ऑपरेटिंग सिस्टम विंडो    का इतिहास रहा  और आज के  समय में हमारे सामने  माइक्रोसॉफ्ट ने अपना सबसे बढ़िया     और    एडवांस    ऑपरेटिंग  सिस्टम   विंडो  10 को लेकर आए.

तोअब आपको पता चल गया होगा की विंडो का इतिहास कहां  से शुरू   हुआ और    कैसे यह  हम तक पहुंची  और किस-किस तरह कि इसमें बदलाव   किए गए तो   आज हम आपको  इस   पोस्ट में माइक्रोसॉफ्ट ऑपरेटिंग    सिस्टम  विंडो के     इतिहास   के  बारे  में बताए और    उसके बारे     में सारी  विस्तार से जानकारी   दी.  यदि हमारे द्वारा बताई गई यह जानकारी आपको पसंद आए तो शेयर करना  ना भूले  और यदि आपको   इसके  बारे में कोई  सवाल  या सुझाव हो तो नीचे कमेंट बॉक्स में कमेंट करके हमसे पूछते हैं.

Operating System Video


READ: What is Computer in Hindi : कंप्यूटर क्या है

READ: Windows Shortcut Keys : विंडोज शॉर्टकट कीज़

Conclusion:

तो दोस्तों अगर आपको हमारी ऑपरेटिंग सिस्टम क्या है What is Operating System in Hindi । यह पोस्ट पसंद आई है तो इसको अपने दोस्तों के साथ FACEBOOK पर SHARE कीजिए और WHATSAPP पर भी SHARE कीजिए और आपको ऐसे ही POST और जानकारी चाहिए तो हमें कमेंट में आप लिख कर बता सकते हैं उसके ऊपर हम आपको अलग से एक पोस्ट लिखकर दे देंगे दोस्तों.

HI HINDIYOUTH.COM AAP KO JOBS, ONLINE EARNING, EDUCATION, BUSINESS, INVESTMENT, CAREER TIPS GUIDE DETA HE. HINDI ME TAKI AAP KI THORISI HELP HO SAKE, ME CHAHTA HU KI INDIA KE YUVA KO SAHI KNOWLEDGE MIL SAKE JO UNKE KAAM KA HO.

Leave a Comment

0 Shares
Share
Tweet
Pin
Share